उप्र में अब पुलिस ने चलाया किराए के मकान पर बुलडोजर

0

1 जुलाई। नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी के बाद 10 जून को सहारनपुर में नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी की माँग को लेकर हुआ प्रदर्शन हिंसक हो गया था। इसी मामले को लेकर पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया था। इन्हीं गिरफ्तार किए गए लोगों में हशमत अली के बेटे का नाम भी शामिल है। हशमत ने कहा, वह किराए के घर में रहते हैं। प्रशासन ने उस पर भी बुलडोजर चला दिया है। उन्होंने आरोप लगाया, कि हमें मुसलमान होने की सजा मिल रही है। अब सहारनपुर हिंसा में यूपी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठ रहे हैं।

हशमत अली का कहना है, कि उनका बेटा सब्जी लेने के लिए निकला था। हशमत के घर पर प्रशासन ने बुलडोजर एक्शन भी किया है। अब हशमत बता रहे हैं, कि जिस मकान में वो रहते हैं वो उनका अपना नहीं है, किराये का है। पुलिस को वो बताते रहे, कि ये किराये का मकान है, लेकिन उन्होंने इसे अनसुना कर दिया। प्रशासन ने हशमत के किराए वाले घर पर बुलडोजर चला दिया, अब मकान मालिक हशमत से हर्जाने के रूप में पैसा माँग रहा है। हशमत का कहना है, कि वो कहाँ से मकान मालिक को पैसे लाकर देंगे। प्रशासन ने गलत कार्रवाई की है। उन्हें मुसलमान होने की सजा मिल रही है। ‘यूपी तक’ से बात करते हुए हशमत ने कहा, “जुल्म ढाया जा रहा है, हमें जान का भी और माल का भी नुकसान किया जा रहा है। मैं और मेरी पत्नी दोनों बीमार रहते हैं, बेटा मजदूरी करता था, कहाँ से पेट भरेंगे? हमारे घर में अनाज के दाने तक नहीं हैं।”

हशमत अली ने मीडिया से अपील करते हुए न्याय दिलाने की भी अपील की है। उन्होंने कहा, कि अगर बेटा मुलजिम था, तो मौके की जगह से 10 को ही गिरफ्तार करना चाहिए था, लेकिन गिरफ्तारी 11 तारीख को हुई। आधा गेट तोड़ दिया।

बता दें, कि नूपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद के बारे में एक टीवी डिबेट में विवादित टिप्पणी किए जाने के बाद देशभर के मुस्लिम संगठनों ने विरोध जताया था। फिर खाड़ी देशों से भी इस मामले पर विरोध जताया जाने लगा था। इसी बयान के विरोध में 10 जून को देश के कई राज्यों में नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी की माँग को लेकर उग्र प्रदर्शन हुए थे। हालांकि केंद्र या योगी सरकार ने इस इस मामले की मुख्य जड़ नूपुर शर्मा पर किसी तरह की कार्रवाई करने के बजाय प्रदर्शन में शामिल लोगों को गिरफ्तार किया है, और कुछ लोगों के घरों को जमींदोज कर दिया गया है।

(MN News से साभार)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here