Home » जुगनू शारदेय के लिए बिहार सरकार से मदद की गुहार

जुगनू शारदेय के लिए बिहार सरकार से मदद की गुहार

by Rajendra Rajan
0 comment 21 views

5 अगस्त। जुगनू शारदेय जाने-माने पत्रकार रहे हैं। लेकिन सिर्फ पत्रकार नहीं, सक्रिय समाज-कर्मी भी। इसलिए उन्हें प्रत्यक्ष रूप से जाननेवालों का दायरा भी काफी बड़ा रहा है। लेकिन इन दिनों शारदेय जी विकट परिस्थिति से गुजर रहे हैं। ऐसे में की पत्रकारों और समाज कर्मियों ने उनकी मदद के लिए बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार को एक पत्र लिखा है। वह पत्र इस प्रकार है-

श्रीमान नीतीश कुमार जी
मुख्यमंत्री , बिहार सरकार
पटना
विषय : सुप्रसिद्ध एवं प्रतिष्ठित पत्रकार श्री जुगनू शारदेय के आवास, स्वास्थ्य एवं आर्थिक समस्याओं के लिए आग्रह
——————————————————-मान्यवर ,
निवेदन है कि देश के, विशेष कर बिहार के सुप्रसिद्ध ,प्रतिष्ठित एवं जुझारू पत्रकार श्री जुगनू शारदेय इन दिनों आवास , स्वास्थ्य और आर्थिक सुरक्षा से संबंधित कठिन समस्याओं का सामना कर रहे हैं। वे पिछले कई महीनों से दिल्ली के एक वृद्धाश्रम में हैं।

श्री शारदीय पिछले कई वर्षों से बिना किसी स्थाई आवास के हैं तथा उनके स्वास्थ्य की देख-रेख की भी कोई समुचित व्यवस्था नहीं है। उनके पास कोई आर्थिक सुरक्षा का कवच भी नहीं है। फलत: वे किसी निम्न स्तरीय , काम चलाऊ गेस्ट हाउस या ऐसे ही किसी अस्थाई स्थान पर सहारा लेने को विवश रहते हैं।

जैसा कि आप जानते ही हैं कि देश की पत्रकारिता , विशेषकर बिहार की पत्रकारिता में श्री शारदेय जी का उल्लेखनीय योगदान रहा है। उन्होंने राज्य के सामाजिक और राजनीतिक परिवर्तन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हम इस संबंध में विस्तार से जाने की आवश्यकता नहीं समझते क्योंकि हमें ज्ञात है कि माननीय मुख्यमंत्री जी उनके योगदान से भलीभांति परिचित हैं।
अनेक रोगों से ग्रसित, अस्वस्थ एवं वृद्ध श्री शारदेय जी के प्रति अपने सामाजिक दायित्व का निर्वाह करते हुए हम आपसे श्री शारदेय जी के लिए विनम्र निवेदन करते हैं कि –

(1) श्री शारदेय जी को पटना में एक सरकारी आवास आवंटित किया जाए जिसमें सभी माननीय सुविधाएं उपलब्ध हों।
(2) उनकी देखरेख के लिए एक सहायक नियुक्त किया जाए।
(3) उनके निरंतर गिरते स्वास्थ्य के देखभाल के लिए किसी योग्य और प्रशिक्षित डॉक्टर को निर्देश दिया जाए।
(4) उनकी आर्थिक सुरक्षा निश्चित की जाए।

पटना में उनकी व्यवस्था होने तक दिल्ली में उनके निवास और इलाज की तत्काल व्यवस्था की जाए। दिल्ली में राज्य के रेजिडेंट कमिश्नर उनके इलाज तथा रहने का दायित्व लें और उन्हें तत्काल बिहार निवास ले जाएं। सादर;

1. राम किशोर, अध्यक्ष, सोशलिस्ट फाउंडेशन
2. कुलदीप सक्सेना, संपादक, “विवेक शक्ति”
3. ओ.पी. सिन्हा, महामंत्री ,आल इंडिया वर्कर्स कौंसिल
4. वीरेन्द्र त्रिपाठी, एडवोकेट,संयोजक, पीपुल्स यूनिटी फोरम
5. ओ.पी.माथुर, मंत्र ,हिन्द मज़दूर सभा,उ .प्र.
6. हफीज क़िदवई, संयोजक ,खुदाई खिदमतगार , उत्तर प्रदेश
7. कौशल किशोर, कार्यकारी अध्यक्ष, जन संस्कृति मंच , उत्तर प्रदेश
8. सुश्री मधु श्रीवास्तव , वरिष्ठ मानवाधिकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता
9. अजय शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता
10. राकेश श्रीवास्तव, वरिष्ठ लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता
11. ओंकार सिंह, राष्ट्रीय समन्वयक, सोशलिस्ट फाउंडेशन
12. राम धीरज, वरिष्ठ सर्वोदय एवं गांधीवादी कार्यकर्ता

You may also like

Leave a Comment

हमारे बारे में

वेब पोर्टल समता मार्ग  एक पत्रकारीय उद्यम जरूर है, पर प्रचलित या पेशेवर अर्थ में नहीं। यह राजनीतिक-सामाजिक कार्यकर्ताओं के एक समूह का प्रयास है।

फ़ीचर पोस्ट

Newsletter

Subscribe our newsletter for latest news. Let's stay updated!