दिल्ली सरकार के खिलाफ डूटा की प्रतिरोध रैली

0

28 अक्टूबर। गुरुवार को दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) ने दिल्ली विश्वविद्यालय के दिल्ली सरकार के द्वारा 100 प्रतिशत वित्तपोषित 12 महाविद्यालय यथा महाराजा अग्रसेन कॉलेज, भीमराव आंबेडकर कॉलेज, केशव कॉलेज, अदिति कॉलेज, भगिनी निवेदिता कॉलेज, शहीद राजगुरु कॉलेज, आचार्य नरेंद्रदेव कॉलेज आदि में कई महीने से शिक्षकों तथा कर्मचारियों को वेतन नहीं दिये जाने के खिलाफ एक दिन की हड़ताल की और डीयू के कुलपति कार्यालय से लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सरकारी निवास तक प्रतिरोध रैली निकाली। प्रतिरोध रैली में 12 कॉलेजों के शिक्षकों सहित विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों के सैकड़ों शिक्षकों ने हिस्सा लिया और दिल्ली सरकार के द्वारा इन कॉलेजों में विगत दो-तीन सालों से नियमित वेतन न देने के विरुद्ध गहरा रोष जाहिर किया और दिल्ली सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाये।

प्रतिरोध रैली में शामिल शिक्षकों ने कुलपति कार्यालय के गेट नंबर एक से निकलकर माल रोड होते हुए मुख्यमंत्री निवास तक पहुँचने की कोशिश की किंतु मुख्यमंत्री निवास के काफी पहले दिल्ली पुलिस ने प्रतिरोध रैली को रोक दिया। रैली में शामिल शिक्षकों ने काफी देर मुख्यमंत्री से मिलने के लिए इंतजार किया किंतु मुख्यमंत्री की ओर से कोई सूचना न मिलने पर जोरदार नारेबाजी की, हालांकि कुछ देर बाद जानकारी मिली कि मुख्यमंत्री केजरीवाल तो घर पर हैं ही नहीं। इसमें सबसे दुखद पहलू यह है कि नियमित वेतन की मांग को लेकर डूटा जब भी प्रतिरोध रैली लेकर मुख्यमंत्री निवास तक गया, एक बार भी मुख्यमंत्री ने डूटा नेतृत्व से मुलाकात नहीं की। महामारी के भयानक दौर में भी 100 प्रतिशत वित्तपोषित 12 कॉलेजों के शिक्षकों तथा कर्मचारियों को नियमित वेतन नहीं मिला और उन्हें भारी आर्थिक संकट का सामना करना पड़ा!

-शशि शेखर सिंह
समाजवादी शिक्षक मंच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here