राजस्थान में घुमंतू जातियों के साथ हो रहा बड़ा अन्याय, आंदोलन की तैयारी

0

13 सितंबर। राजस्थान के सीकर जिले के खाटू श्याम थाना में स्थित गोवर्धन पूरा में रोशन सांसी की निर्मम हत्या को घुमंतू वर्ग पर घोर अन्याय की संज्ञा देते हुए राजस्थान में घुमंतू समाज के साथ लगातार हो रहे अन्याय पर रोष व्यक्त करते हुए घुमंतू, अर्ध घुमंतू तथा विमुक्त जाति परिषद ने प्रदेशव्यापी आंदोलन की चेतावनी देते हुए कहा है, कि लंबे समय से खानाबदोश रह रहे घुमंतू वर्ग के लोगों को पट्टे देने की घोषणा के बावजूद राजस्थान का प्रशासन इस दिशा में उदासीन है।

वहीं घुमंतू वर्ग की जमीनों को कांग्रेस के नेता भू माफियाओं के साथ मिलकर औने पौने दामों में हड़प रहे हैं, अब सरेआम घुमंतू वर्ग के लोगों को जान से मारे जाने की घटनाएं सामने आ रही हैं। ऐसे में हमें अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है, कि हम लंबे समय से कांग्रेस पार्टी के साथ थे। लेकिन कांग्रेस सरकार हमारी वफादारी का बदला हमारी कौम को बदहाली में धकेल करके दे रही है। घुमंतू, अर्ध घुमंतू तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतननाथ कालबेलिया ने कहा, कि एक ओर जहाँ राहुल गांधी गरीब जनता के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ पैदल यात्रा कर भारत जोड़ो अभियान को सफल बनाने में लगे हुए हैं, वहीं राजस्थान में प्रशासन के अधिकारी राहुल गांधी के प्रयासों को धूमिल करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री को चाहिए कि तुरंत प्रभाव से ऐसे प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई कर प्रशासन को जनहित के लिए कार्य करने की दिशा में व्यवस्थित करें, अन्यथा घुमंतू समाज लाखों लोगों को साथ लेकर बड़ा आंदोलन करेगा। क्योंकि अब घुमंतू समाज जाग चुका है।घुमंतु, अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतन नाथ कालबेलिया ने कहा, कि कुछ महीने पहले भू माफियाओं द्वारा घुमंतू जातियों की पूरी बस्ती को आग के हवाले कर दिया गया। बड़ी मुश्किल से मानसरोवर मेट्रो स्टेशन स्थित वह रावण मंडी बस्ती अपने जीवन की मुख्य पटरी पर लौट कर आ पायी है। मुख्यमंत्री के दौरे के बावजूद ना तो उस बस्ती को आग लगानेवाले लोगों को गिरफ्तार किया गया, ना ही बस्ती को पट्टे देने की दिशा में प्रशासन की ओर से कोई कठोर कार्रवाई की गई। उन्होंने घुमंतू बोर्ड की अकर्मण्यता पर प्रश्नचिह्न लगाते हुए सरकार से माँग की है, कि घुमंतू वर्ग के उत्थान के लिए तुरंत प्रभाव से उच्च अधिकारियों की कमेटी गठित कर कार्य करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here