Home Tags Chandrakant Devtale

Tag: Chandrakant Devtale

चंद्रकांत देवताले की कविता

औरत   वह औरत आकाश और पृथ्वी के बीच कब से कपड़े पछीट रही है,   पछीट रही है शताब्दियों से धूप के तार पर सुखा रही है, वह औरत आकाश और...

चर्चित पोस्ट

लोकप्रिय पोस्ट