सिंघु बॉर्डर पर हुई हत्या की संयुक्त किसान मोर्चा ने निंदा की

0

15 अक्टूबर। दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के धरना स्थलों में से एक सिंघु बार्डर पर एक व्यक्ति को बर्बरतापूर्वक मार डालने की खबर आयी। इस खबर से खासकर आंदोलन में शामिल लोग और आंदोलन के समर्थक स्तब्ध रह गए। क्योंकि यह आंदोलन शुरू से काफी अनुशासित और कई बार हिंसक टकराव के लिए उकसाये जाने के बावजूद शांतिपूर्ण रहा है। शुक्रवार की सुबह सिंघू बार्डर पर हुई हत्या की निन्दा करते हुए और पुलिस को जांच में सहयोग का भरोसा दिलाते हुए संयुक्त किसान मोर्चा ने जो बयान जारी किया है वह इस प्रकार है-

शुक्रवार सुबह संयुक्त किसान मोर्चा के संज्ञान में आया है कि आज सुबह सिंधु मोर्चा पर पंजाब के एक व्यक्ति (लखबीर सिंह, पुत्र दर्शन सिंह, गांव चीमा कला, थाना सराय अमानत खान, जिला तरनतारन) का अंग भंग कर उसकी हत्या कर दी गयी। इस घटना के लिए घटनास्थल के एक निहंग समूह/ग्रुप ने जिम्मेवारी ले ली है, और यह कहा है कि ऐसा उस व्यक्ति द्वारा सरबलोह ग्रंथ की बेअदबी करने की कोशिश के कारण किया गया। खबर है कि यह मृतक उसी समूह/ग्रुप के साथ पिछले कुछ समय से था।

संयुक्त किसान मोर्चा इस नृशंस हत्या की निंदा करते हुए यह स्पष्ट कर देना चाहता है कि इस घटना के दोनों पक्षों, इस निहंग समूह/ग्रुप या मृतक व्यक्ति, का संयुक्त किसान मोर्चा से कोई संबंध नहीं है। हम किसी भी धार्मिक ग्रंथ या प्रतीक की बेअदबी के खिलाफ हैं, लेकिन इस आधार पर किसी भी व्यक्ति या समूह को कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं है। हम यह मांग करते हैं कि इस हत्या और बेअदबी के षड्यंत्र के आरोप की जांच कर दोषियों को कानून के मुताबिक सजा दी जाए। संयुक्त किसान मोर्चा किसी भी कानून सम्मत कार्यवाही में पुलिस और प्रशासन का सहयोग करेगा।

लोकतांत्रिक और शांतिमय तरीके से चला यह आंदोलन किसी भी हिंसा का विरोध करता है।

जारीकर्ता –

बलबीर सिंह राजेवाल, डॉ दर्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, हन्नान मोल्ला, जगजीत सिंह डल्लेवाल, जोगिंदर सिंह उगराहां, शिवकुमार शर्मा (कक्का जी), युद्धवीर सिंह, योगेंद्र यादव

संयुक्त किसान मोर्चा
ईमेल: samyuktkisanmorcha@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here