समाजवादी समागम की कार्यकारिणी की बैठक

0

25 सितंबर। दिल्ली में हिंद मजदूर सभा के कार्यालय में समाजवादी समागम की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। इससे पहले समाजवादी समागम की कई‌ बैठकें, कोरोना के कारण, आनलाइन ही होती रहीं। 25 सितंबर को हुई बैठक में सर्वश्री प्रो राजकुमार जैन, हरभजन सिंह सिद्धू, मंजु मोहन, विजय प्रताप, महेन्द्र शर्मा, अरुण श्रीवास्तव, डा सुनीलम, राकेश कुमार, मो निसार एवं डॉ अनिल ठाकुर ने हिस्सा लिया। प्रो आनंद कुमार एवं श्री रमाशंकर सिंह को भी हिस्सा लेना था लेकिन कुछ तकनीकी कारणों से शिरकत नहीं कर पाये। हालांकि प्रो आनंद कुमार ने फोन से अपनी बात रखी।

बैठक के मुख्य मुद्दे थे- समता मार्ग पोर्टल को भविष्य में चलाने की बात एवं उसके आर्थिक पक्ष के साथ-साथ उसका प्रचार-प्रसार; दूसरा प्रो राजकुमार जैन के पत्र पर चर्चा; तीसरा दिसंबर में गोवा सम्मेलन; चौथा आगामी विधानसभा चुनाव की बाबत निर्णय तथा सांगठनिक ढांचा एवं केन्द्रीय कार्यालय। सभी साथियों ने अपनी बात खुलकर रखी। श्री हरभजन सिंह सिद्धू जी ने बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने अपने शुरुआती वक्तव्य में कोराना के दौर में हुई परेशानी का उल्लेख किया, साथ ही इस दौर में हुए कार्यों के बारे में भी बताया। सभी साथियों ने समता पोर्टल के आर्थिक पक्ष के साथ-साथ इसके प्रचार-प्रसार को लेकर चर्चा की। सबकी राय थी कि पोर्टल चलना चाहिए। इसके प्रचार-प्रसार के साथ-साथ इसके आर्थिक पक्ष पर सभी लोग अपनी क्षमता के अनुसार सहयोग करें जिससे यह सुचारु रूप से चल सके इसके लिए मासिक एक हजार या दो हजार रुपए की सहयोग राशि सुनिश्चित करें। साथ ही एकमुश्त सहयोग राशि भी इकठ्ठा की जाए। कुछ लोगों ने अपनी सहयोग राशि दी भी।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि जो लोग हमारे समाजवादी पुरखों की आलोचना/निंदा करते हैं उनका सामाजिक बहिष्कार होना चाहिए। ऐसे लोगों को समाजवादी मंच एवं पोर्टल में भी जगह नहीं मिलनी चाहिए। दूसरा, प्रो राजकुमार जैन के पत्र को लेकर चर्चा हुई जिसमें अध्यक्ष मंडल को लेकर सवाल उठाया गया था। निर्णय यह हुआ कि सांगठनिक ढांचा के साथ-साथ एक संविधान के निर्माण के लिए समिति बनाई जाए जो अगले पंद्रह दिन में एक ड्राफ्ट तैयार कर अध्यक्ष मंडल के सामने रखे जो फिर अगले पंद्रह दिन में फाइनल कर राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सामने रखे जिसे अगली कार्यकारिणी संभवतः नवंबर के प्रथम सप्ताह में अंतिम रूप दे दे और अंत में दिसंबर के गोवा सम्मेलन में पारित कर दे। इस समिति के संयोजक प्रो आनंद कुमार, सदस्य श्री विजय प्रताप एवं डॉ सुनीलम होंगे।इस समिति के सलाहकार प्रो राजकुमार जैन होंगे।

गोवा सम्मेलन में 19 दिसंबर को श्री रमाशंकर सिंह जी के द्वारा एक पुस्तक विमोचन होना पहले से तय है। उससे पहले यानी 17-18 दिसंबर को समाजवादी समागम का राष्ट्रीय अधिवेशन भी किया जाए। 17 दिसंबर को दोपहर बाद राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक तथा 18 दिसंबर को आमसभा का आयोजन करना चाहिए। हालांकि पहले से ही गोवा कार्यक्रम के लिए एक समिति बनी है जिसमें मुख्य रूप से श्री रमाशंकर सिंह एवं प्रो आनंद कुमार का नाम तय है। ये दोनों लोग अंतिम प्रारूप तैयार करेंगे।

चौथा मुद्दा था आगामी विधानसभा चुनाव का। कार्यकारिणी ने निर्णय लिया है कि समाजवादी समागम को बीजेपी के खिलाफ वोट का अभियान चलाना चाहिए। हालांकि एचएमएस अक्टूबर में लखनऊ में एक सम्मेलन करने जा रहा है जिसमें समाजवादी समागम के साथियों को भी आमंत्रित करेगा। पांचवां, संगठन का राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार के साथ-साथ राज्य कमेटी का निर्माण जल्द से जल्द किया जाए जिससे संगठन का विस्तार हो, साथ ही सदस्यता अभियान चलाया जाए। हर राज्य-संगठन को आर्थिक जिम्मेदारी भी दी जाए जिससे पोर्टल चलाने में भी सहूलियत हो।

केन्द्रीय कार्यालय के लिए सिद्धू साहब ने एचएमएस दफ्तर के अंदर एक कमरा भी देने का एलान किया जिसमें समाजवादी समागम के केन्द्रीय कार्यालय की शुरुआत हो सके। बस एक अलग स्टाफ रखने की जरूरत है। उम्मीद है जल्दी ही कार्यालय का शुभारंभ भी हो जाएगा। समाजवादी समागम ने किसान आंदोलन का समर्थन किया, साथ ही 27 सितंबर के भारत बंद का भी समर्थन किया (बैठक भारत बंद से दो दिन पहले हुई थी)। अंत में कोराना के दौरान जिन समाजवादी साथियों को हमने खो दिया उन्हें श्रद्धांजलि दी गयी।

– डॉ अनिल ठाकुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here